Website for CAT preparation material.MBA, Engnieering & Medical entrance exams.GD topics.
Website for CAT preparation material.MBA, Engnieering & Medical entrance exams.GD topics.
x

Ask a Question:

Subject:

Detail:    

Name:   

Email:    

Institute:  

City:        

Category: 



GD TopicsCurrent Gd topics list

सट्टेबाजी वैध होना चाहिए

(Contributed by :Studyfreak Team)

पक्ष ( सट्टेबाजी वैध होना चाहिए )

  • कई बड़ी हस्तिया क्रिकेट सट्टेबाजी में शामिल रहे हैं सरकार इसे वैध बना कर कुछ करों के माध्यम से धन कमा सकती है. अनाधिकारिक तरिके से यह एक बड़ा व्यापार है इसलिए सरकार यह धन हमारे देश के विकास के लिए उपयोग कर सकती है
  • उत्पादन और रोजगार के मामले में , यूनाइटेड किंगडम ( ब्रिटेन) में जुआ उद्योग अर्थव्यवस्था के लिए एक बड़ा योगदान देता है. 2008 में 3 अरब पाउंड ( 4650000000 ) सकल मूल्य वर्धित लेनदेन जुआ गतिविधियों में हुआ और इसने 40,700 नौकरियों बनाने में मदद की .
  • ब्रिटेन में सट्टेबाजी उद्योग का कुल वित्तीय प्रभाव, 6 अरब पाउंड ( 9300000000 डॉलर) के बराबर है और यह ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में 100,000 से अधिक नौकरियों का समर्थन करता है .
  • जुआ बुरा नहीं है . यह व्यक्तियों और कैसे जुआरी जुआ खेले इस पर निर्भर करता है. यह जुड़ा हुआ आर्थिक लाभ के साथ और एक खेल है . यह व्यक्ति-व्यक्ति पर निर्भर करता है. एक समझदार व्यक्ति को हमेशा अपनी सीमा पता है.
  • शेयर बाजारों विशेष रूप से भारतीय शेयर बाजार भि जुआ ही हे. शेयरों की कीमतो का ऊपर नीचे जाना कोई निश्चित नहीं होता है. भारत में शेयर बाजार में लोग हर रोज धोखा मिलता हे इसलिए ये सबसे खराब जुआ है. यह वैध क्यों है ?
  • सट्टेबाजी अपराधीकरण इसे रोक नही सकता , इस साल के आईपीएल में टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार 5000 करोड़ रुपये की भारत में शर्त लगी और 2 मिलियन पाउंड ( रुपये 13.5 करोड़) संयुक्त में सट्टेबाजों के माध्यम से भारत में शर्त के रूप में लाया गया.
  • क्या अच्छा है क्य बूरा हे ये तय करने की स्वतंत्रता होनी चाहिए. हमे ये नही सोचना चाहिए कि कमजोर वर्ग को अपने पैसे का उपयोग नही करना आता, वास्तव में कमजोर वर्ग पैसे के मामले में अमीरो से अधिक विवेकपूर्ण हैं . कमजोर वर्ग अपराधियों के संपर्क मै रहने से ज़ैदा असुरक्षित हे.इससे बेहतर सट्टेबाजी को वैध बना देना चाहिए.

विपक्ष के खिलाफ

  • लोगो ने सट्टेबाजी में अपना दिमाग खो दिया हे और सारी बचत जुआ खेलने मै लगा दी और आत्महटाया की है.इस बात को ध्यान में रखते हुए सरकार को किसी भी तरह से जुआ वैध नहीं किया जाना चाहिए . अनुमति दे सकते हैं तो कैसे लॉटरी खेलते समय लोगों की जान चली रूप में हमारे देश भी कई राज्यों प्रतिबंध लगा दिया है
  • क्रिकेट भारत में सबसे लोकप्रिय खेल है. सट्टेबाजी को कानूनी जामा पहनाया जाएगा, तो फिर बचै भी सट्टेबाजी कि शुरूआँतकर देंगे . पूरा देश जुआरी बन जाएगा . लोग हमारे देश में क्रिकेट के लिए पागल हो रहे हैं .
  • भारतीय समाज में जुआ खराब हे और एक सामाजिक बुराई है . यह अनियंत्रित जुआ या जुआ की लत एक बहुत बुरा है.
  • मध्य वर्ग अब ठीक जुआ में शामिल नहीं है और इसे कानूनी जामा पहनाया जाता है तो वो भी इसमें शामील हो जायेंगे.
  • जैसे मानव लालच को नियंत्रित नहीं किया जा सकता वैसे ही सट्टेबाजी के खेल का
  • वैधीकरण मैच फिक्सिंग / स्पॉट फिक्सिंग को समाप्त नहीं कर सकती.
  • क्रिकेट को एक सज्जनों खेल रहने दीजिए. सट्टेबाजी खेल की भावना को मार डालेगा .

निष्कर्ष

  • दुनिया भर जुआ कानूनी और विनियमित है . भारत में नियमन हर जगह विफल रहता है. हम सट्टेबाजी को विनियमित / वैध करने के बारे में सोचने से पहले हमे अपनी भ्रष्ट व्यवस्था के बारे में सोचना चाहिए . अभी कम से कम मध्यम वर्ग जुए में शामिल नहीं है .
  • सरकार जुए से आय प्राप्त करना चाहता है तो वे पर्यटक स्थल में जुएँ के लिए कुछ केंद्र बना सकते हैं . लेकिन इन जगहों पर आम आदमी एक साल में एक बार जाकर और जुएँ की इस बुराई आनंद ले सकता है

Contributed by: Studyfreak

GD Topics

Add your point- Write to us about your view on this topic in below box...


(Will not be shared.)

Name:
(max 100 character)

Institute:  
(Enter your school/college name.)

City:        
(Enter your city/town name.)





Points added by members


Cat pattern
Ask a Question